• अतीक, अंसारी बंधुओं को टिकट नहीं देगी सपा, अमेठी से लड़ेंगे प्रजापति
  • मथुरा कांड का मास्‍टरमाइंड विवेक यादव गिरफ्तार
  • अवैध हथियार के मामले में बरी हुए सलमान खान

Share On

National | 9-Jan-2017 04:36:02 PM
बॉयफ्रेंड ने छोड़ा तो मरने जा रही थी

  • गूगल पर खोजे खुदकुशी के तरीके
  • डीआइजी ने इस तरह से बचाई जान



 दि राइजिंग न्‍यूज

09 जनवरीसहारनपुर।

परिवार के दबाव में आकर बॉयफ्रेंड द्वारा छोड़े जाने पर स्यूसाइड करने जा रही एक 24 साल की लड़की की जान डीआइजी ने बचा ली। लड़की सहारनपुर से चार किलोमीटर दूर यमुना नहर खुदकुशी करने पहुंची थी। किनारे पर खड़े होकर उसने सोचा कि क्या मरने के और भी तरीके हैं। इस सवाल का जवाब पाने के लिए उसने गूगल सर्च किया। यहां सर्च में उसे कुछ स्यूसाइड हेल्पलाइन नंबर्स भी मिले और उसने उन पर कॉल कर दी। इसके बाद उसकी बात डीआइजी अफिस में हुई।

अफसर ने उसकी बात ध्यान से सुनी और उसे काउंसिलिंग के लिए अपने अॉफिस बुलाया। आपको बता दें कि अगर कोई शख्स गूगल सर्च में मरने के तरीके खोजता है तो उसे सीधे अप्शंस नहीं दिखाई देते। वह पहले हेल्पलाइन नंबर्स दिखाता है, जिसमें अस्त्र नाम का संकट रोकथाम केंद्र भी शामिल है।

बातचीत में डीआइजी जितेंद्र कुमार शाही ने बताया कि 3 जनवरी को मेरे पब्लिक नंबर पर एक लड़की का फोन आया। वह बहुत नर्वस थी और मरने ही जा रही थी। उसने यह भी बताया कि वह गूगल पर मरने के तरीके खोज रही थी। इसी दौरान सर्च में उसे मेरा नंबर मिला। मैंने उसकी बात सुनी और अपने ऑफिस बुलाया ताकि उसकी मदद की जा सके। इसके बाद लड़की डीआइजी आफिस पहुंची और उसने वहां अपनी कहानी बताई। उसने कहा कि वह कई वर्षों से एक लड़के के साथ रिलेशनशिप में थी, लेकिन सरकारी नौकरी लगने के बाद लड़के ने परिवार के दबाव में आकर उससे शादी करने का इरादा बदल दिया।

डीआइजी ने कहा कि हमारे पास आए दिन ऐसे मामले आते हैं। कई बार लड़कियों ने उत्पीड़न और मारपीट को भी रिश्ते खत्म होने का कारण बताया। यह लड़की अंदर से काफी परेशान थी और उसे मदद की जरूरत थी। डीआइजी ने बताया कि उसने अपने बॉयफ्रेंड पर कोई आरोप नहीं लगाए और उसके बारे में बहुत आराम से बात की। उन्होंने कहा कि मैंने विमिन पुलिस स्टेशन के अफसर से लड़के और लड़की की काउंसिलिंग करने और मामले को देखने को कहा।

विमिन पुलिस स्टेशन की एसओ प्रभा सिंह ने बातचीत में बताया कि अब तक लड़की की दो चरण में काउंसिलिंग की जा चुकी है। तीन जनवरी को लड़की डीआइजी से मिली थी और उन्होंने उसे मेरे पास भेज दिया। मैंने उसे यही सलाह दी कि वह मजबूत बने और उसे किसी से डरने की जरूरत नहीं है।

उन्होंने बताया कि हमने लड़के को समन भेजा और लड़की के सामने उसके साथ भी काउंसिलिंग सेशन किया। सिंह ने बताया कि हमने दोनों से बेहतर जिंदगी और भविष्य के विकल्पों पर चर्चा की।

 

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 

 



 

Newsletter

Click Sign Up for subscribing Our Newsletter


   Photo Gallery   (Show All)
सर्द की भोर में कोहरे से लिपटा दुधवा नेशनल पार्क । फोटो- कुलदीप सिंह
सर्द की भोर में कोहरे से लिपटा दुधवा नेशनल पार्क । फोटो- कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें