• अखिलेश ने जारी की 191 उम्‍मीदवारों की सूची, शिवपाल का भी नाम
  • पंजाब चुनाव में होंगे कांग्रेस के 40 स्टार प्रचारक

Share On

UP | 11-Jan-2017 10:56:06 AM
“झगड़ा हटावा बबुआ, बहुत हो गइल..चुनाव देखा”



 दि राइजिंग न्‍यूज ब्‍यूरो

11 जनवरी, लखनऊ।

बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और मुलायम सिंह यादव के समधी लालू प्रसाद यादव ने यूपी के यादव परिवार में सुलह की एक और कोशिश की है। लालू ने अखिलेश यादव को फोन कर के अपने बुजुर्ग पिता को इस उम्र में तकलीफ न देने का आग्रह किया है। साथ ही सुलह कर लेने की सलाह भी दी। लालू कुछ स्‍टाइल में बोले – झगड़ा खत्‍म करा बबुआ बहुत हो गइल...देखा चुनाव सिर पर बा, मामाल गड़बड़ा सकत है, बाकी समझ ला... मालूम हो कि बीते नवंबर में सपा के रजत जयंती समारोह में लखनऊ आए लालू यादव चाचा शिवपाल और भतीजे अखिलेश के बीच भी हाथ और गले मिलवाकर सुलह की कोशिश कर चुके हैं।   

अब सपा के विवाद में अब केवल एक ही पेंच है और वो है राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष का पद। मुलायम चाहते हैं यह पद उनके पा बना रहे भले अखिलेश अपनी सारी बातें मनवा लें। उधर अखिलेश तीन महीनेके लिए इस कुर्सी को नहीं छोड़ना चाहते।

मंगलवार को मुलायम और अखिलेश की मुलाकात के चलते माना जा रहा था कि इस मुलाकात के बाद पार्टी में सब ठीक हो जाएगा लेकिन डेढ़ घंटे तक चली पिता- बेटे की ये मुलाकात भी बेनतीजा रही। जिसके बाद आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने बताया कि उन्होंने अखिलेश यादव से फोन पर बात करके उनसे पिता से सुलह करने की अपील की। घमासान के लिए आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने अमर सिंह और रामगोपाल को जिम्मेदार ठहराया।

बाद में लालू प्रसाद यादव ने मीडिया से बुधवार को कहा, मैंने अखिलेश को देर रात फोन कर सलाह दी थी कि वह मुलायम सिंह यादव से सुलह कर ले, लेकिन मुझे निराशा हाथ लगी। लालू प्रसाद यादव ने माना कि यदि मुलायम और अखिलेश का गुट अलग-अलग चुनाव लड़ेगा तो इससे उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को ही फायदा होगा। राजद सुप्रीमो ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि यूपी चुनाव के बाद सब ठीक हो जाएगा। प्रदेश में अखिलेश की सरकार बनते ही मुलायम सिंह यादव की आदर के साथ समाजवादी पार्टी में अध्यक्ष पद पर जरूर वापसी होगी।

लालू ने बताया कि मेरी अखिलेश से बात हुई, मैंने कहा कि झगड़ा खत्म करो अब वक्त नहीं है। अखिलेश से कहा कि हम सिर्फ तीन महीने के लिए आग्रह कर रहे हैं। इन दोनों की लड़ाई में एक तरफ रामगोपाल पार्टी हैं और एक तरफ अमर सिंह पार्टी है। अमर सिंह सिर्फ याद कराने में लगे रहते हैं कि हमने बहुत किया है। ऐसे में बात स्‍पष्‍ट है कि अखिलेश ने लालू प्रसाद यादव की सलाह पर भी अमल करने के आत की तारीख में इंकार कर दिया है।

बता दें कि इससे पहले सोमवार को अखिलेश को लेकर मुलायम सिंह नरम पड़ते नजर आए थे। मुलायम सिंह ने साफ कर दिया था कि अगले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ही होंगे। जिसके बाद मंगलवार सीएम अखिलेश यादव मुलायम सिंह से मिलने उनके आवास पर पहुंचे थे जहां दोनों के बीच लगभग डेढ़ घंटे तक बातचीत हुई, लेकिन डेढ़ घंटे तक चली दोनों की ये मुलाकात बेनतीजा रही।

 

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 

 



 

Newsletter

Click Sign Up for subscribing Our Newsletter


   Photo Gallery   (Show All)
रात के अंधेरे में खूबसूरती बिखेरता गोमती रिवर फ्रंंट । फोटो- कुलदीप सिंह
रात के अंधेरे में खूबसूरती बिखेरता गोमती रिवर फ्रंंट । फोटो- कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें