• कोलकाता वनडे: भारत ने जीता टॉस, पहले गैंदबाजी का फैसला
  • तिनसुकिया में असम राइफल्स और उल्फा-NSCN में मुठभेड़, तीन जवान शहीद
  • मुुलायम की गैर मौजूदगी में सपा का घोषणापत्र जारी
  • सामाजवादी पार्टी और कांग्रेस कर सकतेे हैैं गठबंधन - सूत्र

Share On

Home | 12-Jan-2017 12:58:56 PM
बीएसएफ के बाद सीआरपीएफ जवान का झलका दर्द
  • पीएम नरेंद्र मोदी को बताया जवानों का दर्द



 

दि राइजिंग न्‍यूज

12 जनवरी, नई दिल्ली।

बीएसएफ के जवान तेज बहादुर के सोशल मीडिया में वीडियो का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा है कि एक और सीआरपीएफ के जवान जीत सिंह का वीडियो सामने आ गया है। इसमें जवान ने प्रधानमंत्री से गुजारिश की है कि पैरामिलिट्री फोर्सेज के जवानों को भी वे सारी सुविधाएं मिलनी चाहिए जो सेना के जवानों को मिलती हैं। इनका दर्द है जब इनके भी जवान सरहद पर गोली खाते है देश के भीतर आंतकवादियों और माओवादियों से लड़ते हैं तो फिर सुविधाओं के मामले में उनके साथ भेदभाव क्यों किया जाता है।

कहा जा रहा है कि यह वीडियो 16 अक्टूबर 2016 का है। 2004 के बाद से पैरा मिलिट्री फोर्सेज के जवानों को पेंशन नहीं दी जाती और न ही आतंकवादी कार्रवाई में मरने के बाद शहीद का दर्जा दिया जाता है। 

 

हमारे साथ भेदभाव क्यों किया जाता है

देश के पीएम मोदी तक एक संदेश पहुंचाना चाहता हूं। हम लोग सीआरपीएफ वाले इस देश में कौन-सी ड्यूटी है, जो नहीं करते। लोकसभा चुनाव से लेकर पंचायत चुनाव तक और मंदिर से लेकर मस्जिद तक ड्यूटी करते हैं। भारतीय सेना और अर्द्धसैनिक बलों को मिलने वाली सुविधाओं में इतना अंतर है कि आप सुनेंगे तो हैरान रह जाएंगे। हमारे दुख को समझने वाला कोई नहीं है।

सेना को पेंशन मिलती है, हमारी पेंशन भी बंद है। 20 साल बाद नौकरी छोड़कर जाएंगे तो क्या करेंगे। एक्स सर्विस मैन का कोटा, कैंटीन और मेडिकल की सुविधा भी नहीं है। सेना को मिल रही सुविधाओं से हमें ऐतराज नहीं है, उन्हें मिलनी चाहिए। लेकिन हमारे साथ भेदभाव क्यों हो रहा।

 

बीएसएफ जवान ने लिखी गृहमंत्रालय को चिट्ठी

बीएसएफ जवान तेजबहादुर यादव के शिकायती वीडियो का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि एक और BSF जवान की चिट्ठी सामने आई है, जिसने नए सिरे से कई सवाल खड़े कर दिए हैं। नौ पन्नों की यह गोपनीय चिट्ठी केंद्रीय गृहमंत्री को संबोधित कर लिखी गई है, और इस खत में जवान ने खाने से लेकर, कपड़े, रहने की सुविधा, और ड्यूटी के घंटों पर सवाल उठाए हैं।

 

बीएसएफ जवान तेज बहादुर ने उठाया था खाने को लेकर सवाल

इससे पूर्व बीएसएफ के जवान तेज बहादुर का एक वीडियो सामने आया था जिसमें उन्होंने सीमा पर जवानों को मिल रहे खाने पर सवाल उठाया था। इस मामले को लेकर जांच चल रही है। वहीं केंद्र ने सीमा से लगी पोस्टों पर डाइटिशियन भेजने का फैसला किया है।

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 

 



 

Newsletter

Click Sign Up for subscribing Our Newsletter


   Photo Gallery   (Show All)
एनबीआरआई, लखनऊ में लगी प्रदर्शनी में गुलाब के फूलों की खूबसूरती देखते ही बनी । फोटो - गौरव बाजपेई
एनबीआरआई, लखनऊ में लगी प्रदर्शनी में गुलाब के फूलों की खूबसूरती देखते ही बनी । फोटो - गौरव बाजपेई

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें